Isha Fatima, YuvaAdda.com

इंटरव्यू देने जा रहे हैं तो ये ज़रुरी नहीं कि सेलेक्शन हो ही जाए. हां ये बात अलग है कि हमारी छोटी सी गलती की वजह से सेलेक्शन ना हो, इसलिए आपको परेशान होने की ज़़रुरत नहीं है. सेलेक्शन हो या ना हो दोनो सिचुएशन्स के लिए तैयार होने की सलाह यहां पढ़ें.

इंटरव्यू में सेलेक्ट न होने पर-

-खुद को अगले इंटरव्यू के लिए मज़बूती से तैयार करें.

-इंटरव्यू में पूछे गए सवालों को बाद में तसल्ली से समझे. उनका बेहतर जवाब क्या हो सकता था ये भी आप खुद ही पता लगा लेंगे.

-इंटरव्यूअर से अपना फीडबैक लें, जिससे आपको अपनी कमियां पता चलेंगी. वो वजहें भी साफ हो जाएंगी जिन वजहों से सेलेक्शन नहीं हो पाया. उन गल्तियों पर काम करके उन्हें सुधारें और ख़ुद को अगले इंटरव्यू के लिए तैयार करें.

– आखिरी और सबसे ज़रुरी, परेशान न हो. रिजेक्शन से सीखें और इस तजुर्बे को आगे बढ़ने की सीढ़ी बनाएं. विन्स्टन चर्चिल ने कहा है ‘सक्सेज़ इज़ गोइंग फ्रॉम फेलियर टू फेलियर विदआउट लॉस ऑफ एंथूज़िएज्म.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here