Afshan Khan, YuvaAdda

तय्यब अली प्यार का दुश्मन हाय हाय, मेरे प्यार का दुश्मन हाय हाय“.

जी हां! ये भी एक हिंदी फिल्म की ही पंक्ति है. लेकिन क्या आज हमारे नेता तय्यब अली नहीं बन बैठे हैं? आज ग़ालिब ज़िंदा होते तो महबूब पर शेर ओ शायरी लिखने से ज़्यादा प्यार के दुश्मनों पर ज़रूर कटाक्ष करते या शायद उनके पीछे भी कोई एन्टी रोमियो स्क्वाड लगा दिया जाता और उनकी खूबसूरत और दिल छूने वाली शायरी हमारे सामने ही नहीं आती. अगर उनके वक़्त में भी हिंदीमुसलमान वाला बवाल होता तो क्या आज हम जायसी, कबीर, ग़ालिब और बुल्ले शाह को एक साथ पढ़ते?

ठीक वैसे ही क्या ताजमहल बनाते समय क्या शाहजहां ने सोचा होगा कि तथाकथित हिन्दूमुसलमान की लड़ाई में उनकी प्यार की इतनी प्रख्यात निशानी को तरह के बयान और नफ़रत की राजनीति का सामना करना पड़ेगा.

आज तो नेताओं ने अपनी सारी हदें पार कर दी और ताजमहल को भी हिंदु मुसलमान नाम की एक लड़ाई में शामिल कर दिया है. अगर कोई नेता इतना बेवक़ूफ़ हो कि उसको प्यार की एक निशानी जिसे दुनिया भर में लोकप्रियता मिली है, उस नेता को दुश्मनों की निशानी लगे तो क्या करना चाहिए.

सच कहूं तो ऐसी बातें सुनकर तो सिर्फ़ खून ही खौल सकता है. अगर ऐसे ही नेता जनता के वोट पाते रहे, तो वो दिन दूर नही है जब बहस इस बात पर छिड़ जाएगी कि लैला मजनू की मोहब्बत ज़्यादा सच्ची थी या शिरीन फरहाद की, या हीर रांझे की.

उनकी मोहब्बत को भी नफ़रत की आग में झुलसा देंगे ये सारेतय्यब अली”. अब ये नेता देश के लिए कुछ काम करें या ना करें, प्यार मुहब्बत का निशान ज़रूर हटा देना चाहते हैं क्योंकि यही एक ज़रिया है जो दिलों को दिलों से जोड़ता है, बिना किसी धर्म या जाति को देखे.

पहले योगी आदित्यनाथ ने ताजमहल को भारतीय संस्कृति का हिस्सा मानने से ही इनकार कर दिया था. अब संगीत सोम ने इसे भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा क़रार दिया है. ये नादान जाने किस जलन की आग में जल रहे हैं कि दुनिया भर के लोगों के दिल में जगह बनाने वाले ताजमहल से इतनी नफ़रत करते हैं. पिछले दिनों उत्तर प्रदेश में बनी ऐतिहासिक पर्यटनों की सूची से ही ताजमहल को हटा दिया गया था. पूरी दुनिया के कोनेकोने में अगर भारत की किसी चीज़ का चर्चा है तो वह है ताजमहल.

लेकिन ये नादान तो इतिहास को ही बदलना चाहते हैं जबकि ये सब जानते हैं कि इतिहास इतिहास होता है उसे बदलना अपनी ही सभ्यता का मज़ाक़ उड़ाने जैसा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here