Arshad Misal, YuvaAdda

नई दिल्ली : जामिया मिल्लिया इस्लामिया की ओर से ‘ग्लोबल जामिया अलुमनाई नेटवर्क’ और ‘अलुमनाई एसोसिएशन ऑफ़ जामिया मिल्लिया इस्लामिया’ ने संयुक्त रूप से ‘फर्स्ट अलुमनाई डे सेलिब्रेशन’ का आयोजन कर देश व दुनिया में फैले जामिया के छात्रों को एक मंच पर लाने की कोशिश की.

ये आयोजन जामिया के डॉ. एम. ए. अंसारी लॉन में किया गया, जिसमें देश-विदेश से जामिया से पूर्व छात्र शामिल हुए. इस अवसर पर जामिया के कुलपति प्रो. तलत अहमद ने अलग-अलग क्षेत्रों में कार्यरत 15 पूर्व छात्रों को सम्मानित किया. इन्हें ये सम्मान अपने कार्यक्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करने, समाज एवं राष्ट्र के के लिए बेहतर योगदान देने के लिए दिया गया.

प्रो. तलत अहमद ने पूर्व छात्रों को संबोधित करते हुए अपने कार्यकाल के उपलब्धियों को गिनवाते हुए कहा कि, किसी भी यूनिवर्सिटी के लिए उनके अलुमनाई और उनका योगदान बहुत ही महत्वपूर्ण होता है.

उन्होंने जामिया से जुड़े तमाम लोगों को बधाई दी तथा अलुमनाई के दरम्यान अपना विज़न भी प्रस्तुत किया.

इसमें प्रतियोगिताएं भी हुईं

इस कार्यक्रम की शुरूआत परंपरागत तरीक़े से क़ुरान की तिलावत और जामिया  तराना के साथ हूई. इसके बाद क्विज़ कंपटीशन हुआ, जिसमें जामिया से संबंधित प्रश्न पूछे गए और सही उत्तर देने वाले ईनाम से नवाज़ा गया. इसके साथ-साथ छोटे बच्चों के लिए पेंटिंग कम्पटिशन भी रखा गया था.

मैड आर्टिस्ट बैंड ने किया परफॉरमेंस

मैड आर्टिस्ट के कलाकारों ने अपने गानों से यहां उपस्थित सभी पूर्व छात्रों का दिल जीत लिया. कार्यक्रम शुरू होने से पहले उन्होंने प्रदर्शन किया. लेकिन जामिया के अलुमनाई को इनका गाया हुआ गाना इतना पसंद आया कि कार्यक्रम ख़त्म होने के बाद उन्हें दुबारा बुलाया गया और फिर इनके गानों पर पूर्व छात्रों ने ठुमके भी लगाएं. यह जामिया के अलुमनाई द्वारा बनाया गया है. इसमें जामिया के ही तमाम छात्र शामिल हैं.

LEAVE A REPLY