Arshad Misal, YuvaAdda.com

नई दिल्ली : जामिया मिल्लिया इस्लामिया के 10 छात्रों को एनसीसी कैम्प से सिर्फ़ इसलिए निकाल दिया गया, क्योंकि उन्होंने दाढ़ी रखी हुई थी.

यह मामला बीते रविवार की है. निकाले हुए छात्रों के अनुसार कैम्प के अधिकारियों ने इन्हें दो विकल्प दिए. “या तो आप अपनी दाढ़ी कटवाओ या फिर कैम्प से बाहर जाओ.”

छात्रों के अनुसार अधिकारियों ने यह बात लिखित में देने से मना कर दिया. विरोध करने पर इनको ज़बरदस्ती वहां से निकाला गया और वहां से सामान लेकर छात्रों को घर जाने के लिए बोला गया. साथ में यह धमकी भी दी गई कि अगर आप यहां से नहीं गए तो पुलिस को बुलाकर सबको हटवा देंगे.

जामिया के छात्रों ने पूरी रात फूटपाथ पर गुज़ारी और सुबह होते ही जामिया पहुंचे, जिसके बाद जामिया के छात्रों ने इसका जमकर विरोध किया.

जामिया प्रशासन से नहीं मिली कोई मदद

निकाले गए छात्रों का कहना है कि कैम्प से निकाले जाने के बाद उन्होंने जामिया प्रशासन से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन प्रशासन की तरफ़ से हमें कोई उत्तर नहीं मिला.

वैसे निकाले गए छात्रों से मिलने जामिया के प्रॉक्टर प्रदर्शन स्थल पर आएं और उनकी सभी मांगों को मानने का आश्वाशन भी दिया.

छात्रो की मांग यह थी कि जामिया एनसीसी का अधिकारी जिसने हमारे साथ बदतमीज़ी की, उसका इस्तीफ़ा लिया जाए तथा हमें इस कैम्प का प्रमाण-पत्र दिया जाए.

ये छात्र इससे पहले भी कर चुके हैं एनसीसी कैम्प

निकाले गए अधिकतर छात्रों ने इससे पहले भी कैम्प कर चुके हैं. लेकिन इससे पहले उनको कभी भी कैम्प से निकाला नहीं गया है. और दाढ़ी को लेकर इससे पहले कभी इस तरह का विवाद एनसीसी कैंप में नहीं हुआ है.

LEAVE A REPLY